COVID 19 Cases -
CONFIRMED 7,173,565
ACTIVE 0
RECOVERED 6,224,792
DECEASED 109,894
 Last Update : 13 Oct-2020 03:41:18 am

कोविड-19 संबंधित पॉजिटिव बुलेटिन: 03 मई 2021

04 May-2021

एक मई से कोविड-19 टीकाकरण के तीसरे चरण की उदार और त्वरित रणनीति लागू की गयी है। देश में अब तक कोविड-19 टीके की कुल 15.89 करोड़ खुराक दी जा चुकी है।

देश भर के 12 राज्यों/केंद्रशासित क्षेत्रों में 18 से 44 साल आयु समूह के 4,06,339 लोगों को टीके की पहली खुराक दी जा चुकी है। इनमें छत्तीसगढ़ (1,025), दिल्ली (40,028), गुजरात (1,08,191), हरियाणा (55,565), जम्मू-कश्मीर (5,587), कर्नाटक (2,353), महाराष्ट्र (73,714), ओडिशा (6,802), पंजाब (635), राजस्थान (76,151), तमिलनाडु (2,744) और उत्तर प्रदेश (33,544) शामिल हैं।

आज सुबह सात बजे तक मिली अस्थायी रिपोर्ट के अनुसार 23,35,822 सत्रों के जरिए कोविड वैक्सीन की कुल 15,89,32,921खुराक दी जा चुकी हैं। टीकाकरण लाभार्थियों की कुल संख्या में वे 94,48,289 एचसीडब्ल्यू शामिल हैं, जिन्होंने वैक्सीन की पहली खुराक ली है और 62,97,900 ऐसे एचसीडब्ल्यू भी शामिल हैं, जिन्होंने वैक्सीन की दूसरी खुराक ले ली है।

इसके अलावा पहली खुराक लेने वाले 1,35,05,877एफएलडब्ल्यू, दूसरी खुराक लेने वाले 72,66,380 एफएलडब्ल्यू, और 18 से 44 साल के आयु समूह में पहली खुराक लेने वाले 4,06,339 लोग शामिल हैं। इसके साथ-साथ 45 से 60 वर्ष की आयु के पहली खुराक लेने वाले 5,30,50,669 और दूसरी खुराक लेने वाले 41,42,786 लाभार्थियों के साथ-साथ 5,28,16,238 पहली खुराक लेने वाले और 1,19,98,443 दूसरी खुराक लेने 60 वर्ष की आयु से ज्यादा के लाभार्थी भी शामिल हैं।

देश में अभी तक दी गई कुल खुराक में 10 राज्यों का 66.94 प्रतिशत योगदान है।

टीकाकरण अभियान के 108 वें दिन (तीन मई, 2021) कोविड-19 के 17,08,390 टीके की खुराक दी गई। इसमें से 8,38,343 लाभार्थियों को 12,739 सत्रों के जरिए पहली खुराक तथा 8,70,047लाभार्थियों को टीके की दूसरी खुराक दी गई।

भारत में आज तक कुल मिलाकर 1,66,13,292 लोग ठीक हुए है। राष्ट्रीय रिकवरी दर 81.91 प्रतिशत है। पिछले 24 घंटों के दौरान 3,20,289 लोग कोविड-19 से स्वस्थ हुए। 

बीमारी से स्वस्थ वाले मरीजों की संख्या में 10 राज्यों का योगदान 73.14 प्रतिशत है। राष्ट्रीय मृत्यु दर लगातार गिर रही है और इस समय 1.10 प्रतिशत है।

पिछले 24 घंटों के दौरान दो राज्यों/केन्द्रशासित क्षेत्रों में कोविड से किसी रोगी की मौत नहीं हुई है। इनमें दमन दीव एवं दादर नगर हवेली और अरुणाचल प्रदेशशामिल हैं।

भारत सरकार ने राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों को अब तक कोविड-19 टीके के 16.69 करोड़ निशुल्क खुराक प्रदान की

भारत सरकार “सम्पूर्ण सरकार” सोच के साथ राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों का  सहयोग लेकर कोविड-19 वैश्विक महामारी के खिलाफ लड़ाई का नेतृत्व कर रही है I टीकाकरण (वैक्सीनेशन) इस महामारी के नियंत्रण एवं प्रबन्धन भारत सरकार की उस पांच सूत्रीय रणनीति का एक अभिन्न अंग है जिसमें परीक्षण, पता लगाना, उपचार एवं कोविड उपयुक्त व्यवहार शामिल हैं।

01 मई 2021 से कोविड-19 टीकाकरण की उदारीकृत एवं त्वरित चरण 3 रणनीति का क्रियान्वयन शुरू हो गया है। नए पात्र जनसंख्या समूहों के पंजीकरण का कार्य पिछले महीने की 28 (28 अप्रैल) से शुरू हो गया है। सम्भावित लाभार्थी सीधे CoWIN (सीओडब्ल्यूआईएन) पोर्टल (cowin.gov.in) अथवा आरोग्य सेतु एप के माध्यम से अपना पंजीकरण करवा सकते हैं।

भारत सरकार ने अब तक राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों को वैक्सीन की लगभग 16.69 करोड़ (16 करोड़ 69 लाख 97 हजार 410) खुराकें निशुल्क उपलब्ध करवाई हैं। इसमें से आज सुबह 8 बजे तक उपलब्ध आंकड़ों के अनुसार अपव्यय सहित कुल खपत 15 करोड़ 94 लाख 75 हजार 507 खुराकों का उपयोग हुआ है I

जनता को टीका लगाए जाने के लिए राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों के पास अभी भी  75 लाख से अधिक खुराकें उपलब्ध हैं I 

साथ ही, आने वाले तीन दिनों में राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों को  इसके अतिरिक्त 48 लाख से अधिक (48 लाख 41 हजार 670)  खुराक और मिल जाएंगी

प्रधानमंत्री ने कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में चिकित्सा कर्मियों की उपलब्धता बढ़ाने के लिए मुख्य फैसलों को मंजूरी दी    

प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी ने आज देश में कोविड-19 महामारी से निपटने के लिए पर्याप्त मानव संसाधनों की बढ़ती आवश्यकता की समीक्षा की। कई महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए, जिनसे कोविड संबंधी कार्यों के लिए चिकित्सा कर्मियों की उपलब्धता काफी हद तक बढ़ जाएगी।

सदी की सबसे बड़ी चुनौती का सामना करते हुए, 20 ऑक्सीजन एक्सप्रेस ने अपना सफर पूरा किया, 76 टैंकर में (लगभग) 1125 मीट्रिक टन एलएमओ पहुंचाया

सभी बाधाओं से उबरते और नए समाधान तलाशते हुए, भारतीय रेलवे देश भर के विभिन्न राज्यों में लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन (एलएमओ) पहुंचाकर राहत पहुंचाने के अपने सफर को रखे हुए है।

अब तक भारतीय रेलवे ने देश भर के विभिन्न राज्यों में 76 टैंकरों में 1125 एमटी (लगभग) एलएमओ पहुंचाया है। 20 ऑक्सीजन एक्सप्रेस ने अपना सफर पूरा किया है और सात अन्य ऑक्सीजन एक्सप्रेस 27 टैंकरों में 422 एमटी (लगभग) एलएमओ लेकर चल रही हैं।

भारतीय रेलवे की कोशिश है कि अनुरोध करने वाले राज्यों को कम से कम समय में अधिक से अधिक एलएमओ की आपूर्ति की जा सके।

आयुष मंत्रालय ने देशभर में ‘आयुष-64’ की उपलब्धता बढ़ाने के लिए कई कदम उठाए

पॉलीहर्बल औषधि ‘आयुष-64’ को नैदानिक परीक्षणों में कोविड-19 के हल्के से लेकर मध्यम स्तर के संक्रमण के इलाज में बहुत उपयोगी पाया गया है। 

‘आयुष-64’, जो कि एक पॉलीहर्बल आयुर्वेदिक औषधि है, का उपयोग कोविड-19 के उपचार के लिए इस्तेमाल होना इस दिशा में महत्वपूर्ण प्रगति में से एक है। 

‘आयुष- 64’ को मूल रूप से मलेरिया के उपचार के लिए 1980 में विकसित किया गया था और यह सभी नियामक संबंधी जरूरतों, गुणवत्ता और औषधि शास्त्रीय (फार्माकोपियोअल) मानकों का अनुपालन करता है।

विदेशों से दान की गई कोविड-19 राहत सामग्री के आयात को आईजीएसटी से अस्थायी छूट

केंद्र सरकार ने 3 मई 2021 को आदेश संख्या 4/2021 के जरिए नि:शुल्क वितरण के लिए विदेशों से निशुल्क तौर पर मिलने वाली कोविड राहत सामग्री के आयात को अस्थायी तौर पर आईजीएसटी से छूट दी है। यह छूट 30 जून, 2021 तक लागू रहेगी। इसमें पहले से आयातित उन सभी सामग्री पर भी लागू होगी, जिनका आज छूट घोषित होने की तारीख तक क्लीयरेंस नहीं हुआ है।


Create Account



Log In Your Account