COVID 19 Cases -
CONFIRMED 7,173,565
ACTIVE 0
RECOVERED 6,224,792
DECEASED 109,894
 Last Update : 13 Oct-2020 03:41:18 am

5 राज्यों का एग्जिट पोल: दीदी गई या रह गयी? जाने बाकी राज्यों के क्या हैं आँकड़ें

01 May-2021

वैसे तो 2021 का चुनाव केरल, तमिलनाडु, असम, गुवाहाटी और पश्चिम बंगाल में हुआ है मगर पूरी देश की निगाहें सिर्फ बंगाल पर टिकी है। इसलिये सबसे पहले बात करते है पश्चिम बंगाल पर। पश्चिम बंगाल में मुख्यरूप से 2 पार्टियों के बीच चुनावी लड़ाई है और इस लड़ाई ने पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव को एक नए जंग में तब्दील कर दिया है।

एक वक्त हुआ करता था जब इस राज्य में वामपंथियों की सत्ता हुआ करती थी और पिछले विधानसभा चुनावों में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बैनर्जी के लिए सबसे बड़ी विरोधी पार्टी जहाँ वामपंथ हुआ करती थी तो वही इस बार भारतीय जनता पार्टी एक बड़ी चुनौती बनकर खड़ी है।

खैर पिछले दिनों में हुए देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैलियों से लेकर लगातार बीजेपी के प्रचार और दावों के बीच बंगाल की जनता ने फिरसे दीदी को जिताया है या भाजपा पर अपना विश्वास दिखाया है ये तो 2 मई को ही पता लगेगा।

मगर अंतिम चरण के मतदान होने के बाद आये एग्जिट पोल ने टीएमसी की सरकार बनने के पूरे आसार बता दिए है।

आइए समझते है कि पश्चिम बंगाल के लिए आई एग्जिट पोल क्या कहती है और उसके बाद देश के अन्य राज्यो के आये एग्जिट पोल पर भी चर्चा करेंगे।

एबीपी सी-वोटर के किए गए सर्वे के अनुसार पश्चिम बंगाल में टीएमसी 152 से लेकर 164 सीटो पर जीत दर्ज कर सकती है। जबकि बीजेपी को 109 से 121 सीटें मिलने का अनुमान है। इस एग्जिट पोल के हिसाब से टीएमसी सरकार बनाती हुई दिख रही है। 

बात करे सीएनएन न्यूज़ 18 के एग्जिट पोल की तो टीएमसी 162 सीटें लाकर स्पस्ट बहुमत के साथ सरकार बनाने में सफल होते दिख रही है। वही भाजपा को 115 सीटें ही मिलने के आसार है। 

रिपब्लिक टीवी CNX की माने तो टीएमसी को 128 से 148 सीटें मिल सकती है तो वही भाजपा को 128 से 138 सीटें मिलने की संभावना बता रही है। गौर करने वाली बात ये है की लगभग सभी एग्जिट पोल कांग्रेस और वाममोर्चा गठबंधन को अधिक से अधिक 25 सीटों पर कब्जा करते दिखा रही है। 

जहाँ एक ओर ये चुनाव ममता बैनर्जी के लिए नाक का सवाल है तो वही दूसरी ओर भाजपा के लिए साख का। बंगाल की जनता का तृणमूल कांग्रेस और ममता बैनर्जी के प्रति झुकाव तो पूरी तरह से है मगर कही न कही राजनीतिक विश्लेषकों द्वारा भाजपा के प्रति आकर्षण भी बंगाल की जनता द्वारा देखा गया है। 

खुद दीदी हार सकती है नंदीग्राम से

"खेला होबे" का नारा लेकर आने वाली ममता बैनर्जी की पार्टी अपने दीदी के हारने का दर्द झेलने को क्या तैयार है। जी हाँ इंडिया TV की एग्जिट पोल के अनुसार पूरे बंगाल या यूं कहें देश की निगाहें जिस सीट नंदीग्राम पर टिकी है जहाँ से सुवेन्दु अधिकारी और ममता बैनर्जी की आपस मे चुनावी लड़ाई है वहाँ से ममता बैनर्जी हार सकती है।

यहाँ से बीजेपी की टिकट पर लड़ने वाले सुभेन्दु जो पहले टीएमसी में ही थे उनके जीतने के आसार नजर आ रहे है। पिछले चुनावों के मुकाबले इस बार हाई वोल्टेज नंदीग्राम सीट पर रिकॉर्ड तोड़ मतदान हुए है।

इस बार 88.1 प्रतिशत मतदान हुआ है जबकि 2016 में 87.48 प्रतिशत ही मतदान हुए थे। कुछ चुनावी विश्लेषकों का कहना है की किसी भी सीट विशेष पर अगर मतदान प्रतिशत में बढ़ोतरी होती है तो यह सत्ता पक्ष के लिए खतरे की घंटी मानी जाती है।

यह बदलाव मतदाताओं के मन मे पहले से ही तय उम्मीदवार को जिताने की मंशा की तरफ इशारा करता है। ऐसे में ये तो तय है कि जो भी जीतेगा वह भारी अंतर से जीतेगा।

नंदीग्राम में कुल 2,57,000 मतदाता है और इनमें से 2,27,000 मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया है। 

असम में बीजेपी ही रहेगी सत्ता में

सारे एग्जिट पोल ने असम के लिए भारतीय जनता पार्टी को  सुखद खबरे दी है। सभी सर्वे भाजपा की जीत को तय करती दिख रही है। एबीपी सीवोटर, रिपब्लिक TV CNX, इंडिया टुडे एक्सेस माय इंडिया के अनुसार भारतीय जनता पार्टी के मुकाबले कांग्रेस पीछे रह जाएगी। 

केरल में रिपीट होगी विजयन कि सरकार

केरल में हमेशा ऐसा होता आया है की कभी कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया की सरकार बनती है और कभी कांग्रेस की सरकार आती है। हर 5 साल में केरल की जनता इन दो पार्टियों में बदलाव करती रहती है। मगर इस बार जिस प्रकार के एग्जिट पोल आये है उनसे यह साफ होता दिख रहा है कि सीपीएम के नेतृत्व वाले डेमोक्रेटिक फ्रंट को स्पस्ट बहुमत मिलने के आसार है।

तमिलनाडु में सिमटती दिख रही है एआईएडीएमके- बीजेपी गठबंधन

तमिलनाडु के विधानसभा चुनाव का एग्जिट पोल सत्ता परिवर्तन की ओर इशारा कर रहा है। तकरीबन सभी एग्जिट पोल कांग्रेस-डीएमके को स्पष्ट बहुमत के साथ जीताते दिख रही है न्यूज 25 टुडे चाणक्य के सर्वे में डीएमके-कांग्रेस की गठबंधन वाली सरकार के 175 से भी अधिक सीटों पर जितने के आसार है।

बात करे एबीपी या रिपब्लिक CNX की तो ये सभी भी 150 से 172 के आस-पास सीटें जीतने का दावा डीएमके-कॉग्रेस वाली गठबंधन सरकार के लिए कर रहे है। वही एआईएडीएमके- बीजेपी सभी सर्वे में लगभग 50 से 70 सीटों पर ही जीत दर्ज करती नजर आ रही है।

 

लेख


ऋषभ तिवारी (विवान)
सब-एडिटर, द नैरेटिव
माखनलाल चतुर्वेदी विवि के पूर्व छात्र
राष्ट्रीय स्तर पर होने वाले सम सामयिक मुद्दों पर, देश में घटने वालो राजनीतिक मुद्दों पर, चुनावी मुद्दों पर और खास तौर पर उभरे अनोखे मुद्दों पर लेख लिखने में खास रुचि रखते है


Create Account



Log In Your Account